500 + Hindi sad Shayari Quotes Status In Hindi English

Hindi sad shayari status in English



Apne hathon ki lakeeron mein basa le mujhko
Main hun tera naseeb apna bana le mujhko
Mujh se tu puchne aya hai wafa k maa’n
Ye teri saada dili maar na dale mujhko


Main samandar bhi hun moti bhi hun ghotazan bhi
Koi bhi naam mera le k bula le mujhko
Tu ne dekha nahin aaine se aage kuch bhi
Khud parasti mein kahin tu na ganwa le mujhko



Kal ki bat aur hai main ab sa rahun ya na rahun

Jitna ji chahe tera aj sata le mujhko

Khud ko main bant na dalun kahin daman-daman

Kar diya tu ne agar mere hawaale mujhko


Main jo kanta hun to chal mujh se bacha kar daaman

Main hun gar phul to joore mein saja le mujhko


Main khule dar ke kisi ghar ka hun saman pyare

Tu dabe paon kabhi aa k chura le mujhko


Tark-e-ulfat ki qasam bhi koi hoti hai qasam

Tu kabhi yaad to kar bhulne wale mujhko


Bada phir bada hai main zahar bhi pi jaun “Qateel”

Shart ye hai koi bahon mein sambhale mujhko


Chehra Mera Tha Nigahen Us Ki

Khamoshi Main Bhi Wo Baaten Us Ki

Mere Chehre Pe Ghazal Likhti Gain

Sher Kahti Hui Aankhen Us Ki


Shokh Lamhon Ka Pata Dene Lagin

Tez Hoti Hui Saansen Us Ki

Aise Mausam Bhi Guzaare Ham Ne

Subahen Jab Apni Thin Shaamain Us Ki


Dhyaan Main Us Ke Ye Aalam Tha Kabhi

Aankh Mahtaab Ki Yaaden Us Ki




Ab toh gham sehne ki aadat si hogayi hai

raat ko chhup chhup rone ki aadat si hogayi hai tu Bewafa hai….khel mere dil se ji bhar ke

hamein toh ab chot khaane ki aadat si hogayi hai..

Muddat ho gayi,woh rulaane nahi aaye,in

jalti hui aankhon ko bhujhane nahi

aaye.kehte thhey jo,saath jiyenge saath

marenge, hum roothey ek roz,wo aaj tak

manane nahi aaye.


kal guzre lamho se mulakat ho gayi

kuch tute sapno se baat ho gayi

yaad aa gaye kuch kisse purane

or ankho me aasuoan ki barsat ho gayi..


रत गुजरी अनके इंतेज़ार में,

 और आंसू बहते रहे प्यार में,


 तनहाई की चादर तान से लपेते,

 बहता राह संसू की मंजर में,


 ठा खामोश मंझार बदला-बिल्ला,

 दिल भी नहीं अब इख्तियार में,


 वो अयेंगे सोचेता राह में,

 खिलेंगी कल्यान फिर से बहारें,


 बेवजह निकल सदा थ एक दिन एह सनम,

 प्यार धुन्ने के लिय है ज़हान में…



 👍👍👍



 सिरफ नज़र सी जालाते हो आग लग गई,

 जलकर क्यूं बुझते हो आग के चात की,


 सरद रटन मेँ भी तपन का एहसाँ राहे,

 हवा देवर बदते हो जग में क्या,


 आपी नाज़्रों में मेरे प्यार का ठिकाना,

 हम से क्यूं छीपेत हो तुम चाहत की,


 नाज़ुक जिस्म पार उन्गलियन जो रोक दून,

 बदी खुसी से चुप्पे हो आओगे क्या,


 फूलन सी लिपाटकर बिकार जाऊ मुज पार,

 अरमानो से लुटेते हो और भाग के…




 👍👍👍



 ये मौसम भी है दीवाना आप,

 एह सनम इनायत आपि बहना आप,


 कु छ राह-गयर आय वहीँ से,

 शयद लेये मान अफसाना आप,


 एह हव कुशबो लइकर आना उनकी,

 नहि चलेगा अब कोई बहना,


 मलूम है आपको आज तक मुझसे,

 कयोंकी मुख्य हूं जान पधारना अपना,


 हैं भीगो दे यूज़ मेरे प्यार के रंग से,

 सुख पदा है जो आशियाना अपना,


 ये मौसम भी है दीवाना आप,

 एह सनम इनात आपे बहना आप ...



 👍👍👍

 वफ़ा की आग में जो ख़ुद को जला दे,

 अनस मोहब्बत का मुख्य रिश्ता निभा,


 अज अगार उन्की गलियों में जता तोह,

 उंकी यादों को आखीर जवाब क्या देथा,


 खंजर उतारती थी तनहाई जस दिल में,

 अगार मुजे केते हैं, तोह खोद को मीता देत,


 बंजार पड़ी है मोहब्बत की धरती बोली, एह सनम,

 काश चले जाना के, अनको भुला देत,


 बेवफा न अगार एक मोका दिया होटा,

 ज़मने को भी मुख्य मोहब्बत सिख डेटा ...


 👍👍👍


 खामोश होथों का गर ईशर मिल जाए,

 दिलकश नागमन का सहारा मिल जाए में,


 आपी मस्त नज़रें बेकरार लागी हैं,

 मुजे भी शयाद कोई नाजारा मिल जाए,


 चुह लोन अगार मेन इन सुरख होथों को,

 सरद आहोन को तपता सहारा मिल जाए,


 एह खुदा मन्नत अपना हो जाए गरीब,

 अगार वो बिछा हमीं प्यार मिल जाए,


 लहुरों की चाहत है, साहिल के दिल में,

 उसके दिल में, दिल को एक किन्नर मिला जाए,


 खामोश होथों का गर ईशर मिल जाए,

 दिलकश नागमन का सहारा मिल जाए ...


 👍👍👍



 रतन का मंजर अज़ीब लगता है,

 साया तेरी यादों का कहर लागता है,


 लाहरीन आकर वापीस हो जाती है,

 वो साहिल तन्हा अज़ीब लगता है,


 उसको यादों की केमत पाती है,

 तबि तोह वो दिल का मृग लगत है,


 वो सनम मायुस है तो क्या हुआ,

 फिर भी वो मेरा हबीब लगता है ...


 👍👍👍👍



 मिलकर खो जाना मेरा नसीब था,

 वाह, ये दरद भी किता अजैब था,


 मिला न इस्तेमाल करो एक घर का,

 फुटपाथ पार सोया नसीब थ,


 ता-उमर धुंडता राह उस्को,

 रहोन में मेरा वो नसीब थ,


 मुशकिल से प्यार हो गया,

 की भीड में चली अजैब था,


 काश थार जाटी ये लेहरिन एह खुदा,

 कयोंकी मिल्ने वाला मेरा हबीब था,


 मिलकर खो जाना मेरा नसीब था,

 वाह, ये दरद भी कुछ अजिब है ...




 👍👍👍


 हर लम्हा हम अनहद याद कटे,

 उन्की याद में मर-मार के जीते,


 अश्क आंखें से हमरी बहते राहे,

 हम आशों के नाम पे राहे,


 मोहब्बत रुसवा हुई ज़माने में,

 हम बस उन्का नाम लेकर हाय जीते,


 लैब खामोश दी आंखें ने हाल-ए-दिल का,

 हम बस उका नाम ले कर हाय जीते ...


 👍👍


 चोट खाए तोते दिल ना कहेँ,

 दर्द रे जायगा कहे ना काहे को,


 है दुशमन भरी हुई ज़िंदगी एह सनम,

 अस्सलामन पार होगि ज़मीन ना कहेँ,


 तुम लोग प्यार में इम्तेहान कभी,

 आये हमीं है झूठ पार येकेन ना कहेँ,


 मूत उसि के चोखट पे हो ई खुदा,

 सज़्दा सिरफ उस्के सिवा हो ना काहेन,


 आपि गुफ्तगू का क्या कहना एह सनम,

 चार बेटिन हैं दिलनशी, ये और ना काहे को,


 छोट खाना टुटे दिल ना कहना,

 दर्द राह जायगा कहे न काहें ...


 👍👍👍



 👍



 तुझ चाहते हैं एह सनम बस तेरी आरजू है,

 तू ज़िन्दगी है मेरी, तू मेरी हर ख़ुशी है,


 मुझ दुनी से गरज क्या तू मेरी जुजु है,

 बास तेरे दाम से हमदम मेरी दुनी हांसी है,


 हाथन में तेरे सनम मेरे प्यार के आबूरो है,

 तेरे नाम पर कुर्बान मेरी जान-ओ-जिंदगी है,


 तू सौमने है मेरे तो खुदा रू-ब-रू है,

 तू ही चाहत की मंज़िल, तू ही मेरी बंदगी है,


 तुझ चाहते हैं एह सनम बस तेरी आरजू है,

 तू जिंदगी है मेरी, तू मेरी हर खुशी है ...


 👍👍👍



 👍👍👍👍



 मन दिल ने खुदा अपना,

 चहा हम्ने, पूजा आपको,


 अपना आप से पुछिये एह सनम,

 खुशबू कहो या फिर फिज़ा आप,


 मंदिर मैं जान अब किसली,

 जब मन लइया देवाता आपको,


 मंज़र बिल्ला है जीन का,

 जब से ज़िन्दगी समझौता है आप,


 बीती लहार सलाम करेगी,

 फ़ुर्सत से साहिल मिला आप ...


 👍👍👍👍



 तुझ देके जो कोई भी, वही जग को भूल जाए,

 तुझ प्यार करुण मुख्य इतना, तू सबको भूल गया,


 तुझ देख कर फरिश्ते, रब को भूल जाए,

 तुझ ख़ुशियां दुन इतनी के तू सब घम भूल जाय,


 तू मेरे करब आ कर सब तन्हाइयां भूल गए,

 तू दिल, मुख्य धड़कन, डोनो एक डूजे के हमराज बन जाए,


 एह सनम तुझ में मुख्य प्यार करूँ इतन की तू सबको भूल जाए,

 खो जायेंगे हम दो प्यार में ऐस हद को भूल जाए ...


 👍👍👍👍


 मासूम सादगी से मुस्कुराना तेरा,

 सिमटकर बाहों में बिकर जन तेरा,


 अन मोटियोन से पुछुँ वो सीप कह है,

 की सेहरा में कीमती आशियाना तेरा,


 लकर चल गइ वो हो जाँ मेरी,

 बेहड़ हसीन था बहना तेरा,


 हया शर्म की तश्वीर देखी मांने,

 हथेलीयोन सी चेहरा छूपना तेरा,


 बन ले तू मुजे भी शागिर्द अपना,

 ख़ूब है ये अंदाज़ शायरा तेरा,


 मासूम सादगी से मुस्कुराना तेरा,

 सिमटकर बाहों में बिकर जन तेरा…


 👍👍👍👍





 👍👍👍👍



 चैन यहान है, अब वंहा नहीं,

 दिल क्यूं बेताब है, एह खुदा पात नहीं,


 जीस तलश में है तू शयाद,

 वो आपको कभी मिला नहीं,


 शाद ये मौसम बन राहे,

 यूँ तोह किसि को रहना नहीं,


 शिकवे दुनीया से हज़ारो हैं,

 एह सनम मुजे आसे कोइला नहीं,


 दिल से मेरे मिलन जरूर एह हुस्न वालन,

 क्या आप दिल कभी भी…


 👍👍👍👍



 जो आटी थी कभी मेरे नाम के साथ,

 हम आज भी पढते हैं वो गुम्मण चित्ठ्यान,


 सरहदों के पार गे, दिल के वो तुझे एह सनम,

 बस रे गइ अब तो बान के सलाम चित्ठ्यान,


 धीमे-धीमे कदमों से आति तू वो,

 रोज़ न आवे मागर बन-ईमान चित्तियाँ,


 मेरे साथ राही हमेश खामोशियां,

 शिरफ लिखता गया है-ए-तमाम चिट्ठियां,


 जब भी मेरी प्यासी बाकि रह जाती है,

 पीता हुन अब मेन बनकर ज़म चित्ठ्यान,


 कटरा-कटरा बिकरा हुआ है ज़मीन पर,

 समत लो इह सनम तेरा ये प्यार चित्रण…


 👍👍👍👍👍👍

 ।

 क्यूं दामन को दागदार करे हो,

 क्यूँ बेवफा से मोहब्बत करे हो,


 जो पूजता है तुम से खुदा की तरहा,

 क्यूँ उसकी मोहब्बत कोई बदनाम काम हो ...




👍👍👍



Kya Hua Jo Mudi Nazar Dheere-Dheere,


Chahat Se Bhra Hua Hai Machalta Dil,

Kaafir Hui Mastani Nazar Dheere-Dheere,


Alhad Ada Thi Unki Pahle Is Traha,

Ab Diwangi Chadti Umar Dheere-Dheere,


Umadta Gaya Masti Ka Sama Fiza Mein,

Uthha Ab Jawaani Ka Bhanwar Dheere-Dheere,


Surkh Lab Utre Maidan Mein Ek Saath,

Puri Hui Uski Har Kasm Dheere-Dheere,


Sarka Jo Aanchal Fir Sanwrne Na Diya,

Madhosh Ho Gaya Pyar Mein Dheere-Dheere,


Saanso Ki Sabnam Yeh Aahon Ke Shole,

Hote Gaye Sab Be-Asar Dheere-Dheere,


Talab Rahti Hai Kho Jaaun Tujh Mein,

Hoti Rahe Shab Mein Shahr Dheere-Dheere...


👍👍👍


Ishq Mein Dil Ne Bahut Kaam Nikala Apna,

Sach Hai, Milta Hai Kahaan, Chahne Wala Apna,


Main Uthhta Hun Sahare Ke Liye Uske,

Reh Na Gaya Ho Raah Mein, Kaheen Dard Apna,


Khaakh Kis-Kis Ki Khuda Jaane Huyi Eh Daman Wale,

Tune Chalte Huye Daman Na Sambhala Apna,


Dil Chhune Wale Do Labaz Hi Likhe The Usne,

Kaam-Kaaz Sab Ulat Pher Ho Gaya Apna,


Hain Bure Haal, Ki Sab Dekhne Waale Hain,

Koi Duniya Mein Nahi Haal Puchhne Wala Apna,


Ishq Mein Dil Ne Bahut Kaam Nikala Apna,

Sach Hai, Milta Hai Kahaan, Chahne Wala Apna…


👍👍👍


Maayus Dil Mein, Dil-E-Nakaam Ho Gaya,

Rooksat Ho Duniya Se Mujhe Aaraam Ho Gaya,


Main Har Tarah Se Doshi Ho Gaya,

Galati Ki Kisi Aur Ne, Naam Mera Ho Gaya,


Is Tashanagi Ki Aag, Usi Se Bujhi,

Main Paani Peete-Peete, Sharabi Ho Gaya,


Aashiq Ki Kamzori Ki Kuchh Intehaan Nahi,

Gaya Wahan Jahan Is Jeewan Ka Islaam Ho Gaya,


Dil Mera Bataab Hai Uske Pyar Ke Liye,

Aankhen Pyala Ho Gayi Dil Jaam Ho Gaya,


Rahta Hai Apna Mukaddar Bhi Apne Saath,

Wahan Bhi Pyar Ke Maaron Mein Shamil Ho Gaya,


Duniya Mein Har Mash-hoor Aadmi Paise Ka Gulam Hai,

Lekin Woh Toh Aapka Gulam Ho Gaya,


Maayush Dil Mein Dil-E-Nakaam Ho Gaya,

Rooksat Ho Duniya Se Mujhe Aaraam Ho Gaya…


👍





👍👍👍


Ek Bewafa Ko Apna Hamraaj Banakar,

Ab Pachhta Raha Hun Apna Dil Ganwakar,


Us Bewafa Ne Zindagi Mein Aag Laga Di,

Jise Dil Mein Basaya Tha Chandni Banakar,


Sahme Huye Phool Yeh Meri Mohabbat Ke,

Berang Ho Chuke Hain Aansuon Mein Nahaakar,


Alaah Kare Use Bhi Kabhi Neend Naa Aaye,

Jo Le Gaya Hai Meri Aankhon Ki Neend Churakar,


Phulon Ki Sez Usko Kabhi Raas Na Aaye,

Jo Gaya Hai Meri Raahon Mein Kaante Bichhakar,


Tadpega Tu Bhi Ek Din Meri Tarah Se,

Eh Sanam Royega Takiye Ko Seene Se Lagakar,


Maine Toh Aansuon Ko Apna Mukaddar Bana Liya,

Eh Bewafa Khush Tu Bhi Na Rahega Mujhe Rulakar,


Ek Bewafa Ko Apna Hamraaj Banakar,

Ab Pachhta Rahe Hain Apna Dil Ganwakar…


👍👍👍👍


Ab Hum Kisi Ki Tamanna Na Karenge,

Ab Raah Kisi Ki Bhi Na Dekha Karenge,


Mere Dard Se Wakif Na Ho Jaaye Tera Saya,

Ab Is Andhere Kamre Mein Ujala Na Karenge,


Kyon Jhanke Khidkiyon Se Kyon Dar Pe Khade Ho,

Hum, Dard-E-Dil Ko Bayaan Na Karenge,


Tadpaya Rulaya Hai, Woh Jab Bhi Mile Hain,

Ab Paigam Bhi Aaye Toh Jaya Na Karenge,


Muddat Se Rakkhi Hai Takiye Ke Neeche Mere,

Teri Us Tasveer Se Dil Bahlaya Na Karenge,


Aankhe Jali, Rooh Jali, Dil Jala, Zism Jala,

Diya Umeed Ka Palkon Par Jalaya Na Karenge…




👍👍👍👍



Jo Aati Thi Kabi Mere Naam Chitthhiyan,

Hum Aaj Bhi Padhte Hai Woh Gumnaam Chitthhiyan,


Sarhadon Ke Paar Gaye, Dil Ke Woh Tukde Eh Sanam,

Bas Reh Gayi Ab Toh Ban Ke Salaam Chitthhyan,


Dhime-Dhime Kadamon Se Aati Thi Woh,

Roz Nahi Aayi Magar Be-imaan Chitthhiyan,


Mere Sath Rahi Hamesha Khamoshiyan,

Shirf Likhta Gaya Haal-E-Tamaam Chitthhiyan,


Jab Bhi Meri Pyaas Baaki Reh Jaati Hai,

Peeta Hun Ab Main Banaakar Zaam Chitthhiyan,


Katra-Katra Bikhra Hua Hai Zameen Par,

Samet Loo Eh Sanam Tera Yeh Pyar Chitthhiyan…

Post a Comment

0 Comments