New bewafa sad love shayari status in hindi

Beautiful Sweet Shayari of Intzaar for Love Mobile SMS Ishq ka Pyar Bhara Intzaar Sweet Shayari SMS for Love...





Chalta phirta hoon log kehty hain Main bhi zinda hoon log kehty hain unki ankhon ka dosh hai warna Kab main tanha hoon log kehty hain Sath ankhein mera nahin deti Jab bhi hansta hoon log kehty hain Kiu nahin tu khareed leta mujhy? Bohat sasta hoon log kehty hain karwi baton pay meri [...]


Zindagi se wafa hamne bhi ki hain bahot par Gamon ke siva aur kuch mila bhi to nahi, Ek tujhko pakar bahut khush tha main , Par sath tera manzil tak mila bhi to nahi… Kuchh log aise hote hain jo pal bhar me paraya kar jatey hain Manzil ko dekhtey hi ek pal [...]



Chalta phirta hoon log kehty hain Main bhi zinda hoon log kehty hain unki ankhon ka dosh hai warna Kab main tanha hoon log kehty hain Sath ankhein mera nahin deti Jab bhi hansta hoon log kehty hain Kiu nahin tu khareed leta mujhy? Bohat sasta hoon log kehty hain karwi baton pay meri [...]



Udas Logon ki Bastiy0n main, Wo Titliyon ko Talash Krti… Wo Aik Larki… Wo Sanwla rang Wo Kali Ankhen… Jo Krti Rehti Hazaar Baaten… …Mizaj Saada Wo Dil Ki Achi… Wo Aik larki… Wo Mohabton K Nisaab Janay… Wo JaNti Hai Ehd Nibhanay… Wo Achi Dost Wo Achi Saathi… Wo Aik Larki.. Wo Jhootay [...]



Behte hue dariya ko kya modega koi Toote hue sheeshe ko kya jodega koi Chalo fir se ek bar  Or ishq karke dkhte h Ab iss toote dil ko kya todega koi!!!!!!!!!!!!!!!



Woh jante hai ki hum unke intezaar mein hai isliye shayad woh der laga rahe hai waqt kat-ta nahin unke bina hamara yeh jante huve bhi hame sata rahe hai na jane kya milta hai unhe hame yun sata kar jo der se akar bhi woh muskara rahe hai …



Tujhe Yaad Karte Hain Har Sans K Bad Kabhi Subh Se Pehle Kabi Sham K Bad Kabhi Milo To Kuch Karen Batein Ek Jam Se Pehle Ek Jam Ke Bad Dil Ki Dewaron Pe Tera Nam Likte Hain Kabhi Fursat Mein Kabhi Kaam Ke Bad Mere Marne K Bad B Log Tujhe Pukarenge Kabhi [...]



बीघी पलकोन टेल हम नी चुप्पे अनसो, हस्ना चाहा मगहर अंख मेरे ऐ अनसो, तुम को मालुम शेड हो के ना हो, तेरे जेन पे भोत हम ना बहे असो, प्यार इक खिला के तमाशा क्रेम, हम ने ये सो केच खूद से।  भी चुपा अनसो, जो तेरे संग काट द वो […]

 आपन हाथो की झीलन मेँ बेसा ले मुजको मुख्य हुन तेरा नसीब अपना बाना ले मुजको मुज से तु पुन्ने आया है काफा है मैया ये तेरी सदा मेरी दिल ना मूले मुखो मुख हिंधो के लिए मन मोहित है।  तुला ले मुजको तू ने दीखा […]


 चेहरा मेरा था निगाहें हमें की ख़ामोशी मुख्य बीवी वतन में हमारे मेरे चेहर पे ग़ज़ल लखती है गेन शेर कहती हुई आंखें हमसे की शोख लम्हों का पटे पेने लगें तेझ होति तों होई साँसे हमसे हमारे ऐस मौसम भी गुज़रे हैं हम आपके हैं, हम आपके लिए नहीं हैं।  ध्यान मुख्य Us Ke [...]


 वफ़ा में अब यूँ हुंकार इख्तियार कर लेना है .. वोह सा कहे ना काहे एतबार कर देना है .. हाँ तुझ को जगाते हैं रे शायक़ का कहना है क्या?  मुजे तू खैरा तेरा इन्तजार करना है…।  हावा की ज़द में जलाने में अन्सोन के चिराघ कभी ये जशन सर ए र’हुगज़ार करना है…।  woh muskura kay […]


 कोइ ग़ज़ल सूना करे क्या, यूं बात बर्र की क्या करूँ ..?  तुम मेरे तो तुम हो, दूनिया के बाते क्या प्यार करते हो ..?  … तुम अहाद निभाओ कहत हो, कोइ रसम निभा कर क्या?  तम खफा भई अकाश लगत हो, फिर तुम को मन करे क्या ..?  तेरे डर पे आ […]




 हम कासे पगले होतय ते एक फूल के चोनय के खातिर कान्तून कहते हैं ज़ख्मी होतय ते जो फूल झोली मुख्य आ गीता उस्से चोंय कहो मर जावे ते हम कस पगले गरम तय के ढोंडली आउणो मुख्य अप्पन गीतों को याद करते हैं।  मुख्य डाबा के राखते [...]




 Kya pata uski koi majburi ho, bewafa khun zaruri to nahi Pyar उपयोग kisi or se bhi ho sakta hai Sirf mere sath ho zaruri to nahi sapar har insaan dekhta hai Har kisi ke sapne purey ho zaruri to nahi ..



 hazaaro.n Khvaahishe.n aisii ki har Khvaaish pe Dam nikale bahut nikale mere armaa.N lekin phir bhi kam nikale Dare kyuu .N meraa qaatil kyaa rahegaa usakii gardan par voice Khua। ju ji ji  एन बांध-बा-बांध निकले [चश्म = आंख;  राल गीला =;  डैम_बा_दाम = लगातार] निकलाना खुल्द से आजम का सनते आये है। एन लेकिन बहुत हो-आबरू होकर तेरे कूचे [...]



 बीघी पलकोन टेल हम नी चुप्पे अनसो, हस्ना चाहा मगहर अंख मेरे ऐ अनसो, तुम को मालुम शेड हो के ना हो, तेरे जेन पे भोत हम ना बहे असो, प्यार इक खिला के तमाशा क्रेम, हम ने ये सो केच खूद से।  भी चुपा अनसो, जो तेरे संग काट द वो […]


 आपन हाथो की झीलन मेँ बेसा ले मुजको मुख्य हुन तेरा नसीब अपना बाना ले मुजको मुज से तू पुछने आया है वफा क्या है मैया ये तेरी सदा दिल मेरा नाल मुजको में मुख्य रूप से अपने दोस्तो के लिए है।  तुला ले मुजको तू ने दीखा […]


 चेहरा मेरा था निगाहें हमें की ख़ामोशी मुख्य बीवी वतन में हमारे मेरे चेहर पे ग़ज़ल लखती है गेन शेर कहती हुई आंखें हमसे की शोख लम्हों का पटे पेने लगें तेझ होति तों होई साँसे हमसे हमारे ऐस मौसम भी गुज़रे हैं हम आपके हैं, हम आपके लिए नहीं हैं।  ध्यान मुख्य Us Ke [...]


 वफ़ा में अब यूँ हुंकार इख्तियार कर लेना है .. वोह सा कहे ना काहे एतबार कर देना है .. हाँ तुझ को जगाते हैं रे शायक़ का कहना है क्या?  मुजे तू खैरा तेरा इंतेजार है…।  हावा की ज़द में जलानाय है अनसन की चिराघ कभी हाँ यार सरन ए रहगूजर कर जाना है…।  woh muskura kay […]


 कोइ ग़ज़ल सूना करे क्या, यूं बात बर्र की क्या करूँ ..?  तुम मेरे तो तुम हो, दूनिया के बाते क्या प्यार करते हो ..?  … तुम अहाद निभाओ कहत हो, कोइ रसम निभा कर क्या?  तम खफा भई अकाश लगत हो, फिर तुम को मन करे क्या ..?  तेरे डर पे आ […]




 हम कासे पगले होतय ते एक फूल की चोंए की खातिर कान्तून कहते हैं ज़ख्मी होतय तय जो फूल झोली मुख्य आ गीता उस्से चोंय कहो मर जावे ठय हम कसे पगले गरम तय के ढोंडली आउणो मुख्य अप्पन गीतों को याद करते हैं।  मुख्य डाबा के रक्ते [...]


 आज का बुत है पानी बरसा आज बदन तन्हाई है ऐस मेरे दिल में ऐ दिल है मुश्किल में ऐ दिल है मुश्किल के दिल में तेरा ये दिल आशिक है के लिए आ गया है दिल ये तेरा प्यार है तेरा ये है तेरा दिल है तेरा ये गाना है।  तन्हाई है क्या झूठे […]




 Kya pata uski koi majburi ho यूज़ bewafa khun zaruri to nahi Pyar यूज़ kisi or se bhi ho sakta hai Sirf mere sath ho zaruri to nahi sap har har insaan dekhta hai Har kisi ke sapne purey ho zaruri to nahi


 एक हसरत थी के आँचल का मुझसे प्यार मेरा माई मंज़िल को तलशा, मुजे बाज़ार मील ज़िंदगी और बाता तेरा इराडा क्या है?  जो बी तक़दीर बनता हूं, बिगर जाटी है देक्ते देखते दुन्या हाय उजर जात है मेरी काशी, तेरा तोफों से वडा क्या है जिंदगी और जिंदगी तेरा इरा का क्या है?  [...]





 आसू आ जते हैं आनखोन मेरे रोन से पेहले उसके ख्वाब तोते जते हैं सोन से पेहले इश्क है गुन्हा ये तो समज गइए काश कोय रो रोक ली ये गुन होन से पेहले हसता है मुजको या फर रूला बी देस्ता एच करुला की आवाजें और आवाजें आईं।  डेटा एच अजब मिजाज […]


Post a Comment

0 Comments